donald trump

अमेरिकी राष्ट्रपति ‘अफगानिस्तान नीति’ पर चर्चा कर रहे थे

वाशिंगटन। अमेरिका ने अफगानिस्तान की राजधानी काबुल के होटल इंटरकांटिनेंटल पर आतंकवादी हमले की कड़े शब्दों में निंदा की है। सूत्रों के मुताबिक अमेरिका अफगानिस्तान में 1000 और सैनिक भेजने की तैयारी कर रहा है।

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के इस फैसले के पीछे भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को वजह माना जा रहा है। दरअसल पिछले साल मोदी ने ट्रम्प से कहा था कि अफगानिस्तान में दुनिया के किसी भी देश ने निस्वार्थ भाव से इतना काम नहीं किया जितना अमेरिका ने किया है। इस बात का जिक्र खुद ट्रम्प ने किया।

वाशिंगटन पोस्ट के हवाले से खबर है कि ट्रम्प के अधिकारी ने बताया कि अमेरिकी राष्ट्रपति ‘अफगानिस्तान नीति’ पर चर्चा कर रहे थे, इस दौरान अचानक ही ट्रम्प मोदी की नकल करने लग गए और उनके स्टाइन में बोलना शुरू कर दिया। ट्रम्प ने मोदी स्टाइल में बोलते हुए कहा कि उन्होंने अफगानिस्तान में ज्यादा सैनिकों को भेजने और वहां निवेश करने का फैसला किया है। अमेरिका का मानना है कि उसकी मदद से अफगानिस्तान आने वाले दो सालों में अपनी सेना और पुलिस की मदद से देश के 80 फीसदी हिस्से पर अपना कब्जा कर लेगा।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams