modi

फोब्र्स ने जारी की दुनिया भर के ताकतवर लोगों की लिस्ट

न्यूयॉर्क
अमेरिकन बिजनस मैगजीन फोब्र्स ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दुनिया की 10 सबसे ताकतवर शख्सियतों में शुमार किया है। लिस्ट में पहले नंबर पर चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग हैं और दूसरे नंबर पर रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन हैं। पिछले साल इस लिस्ट में पहले नंबर पर पुतिन थे। पीएम मोदी को लिस्ट में 9वें नंबर पर जगह दी गई है। पिछले 2 साल से पीएम 9वें नंबर पर ही बरकरार हैं। लिस्ट में सबसे ज्यादा चौंकाने वाला बदलाव राष्ट्रपति शी का है। शी इससे पहले चौथे नंबर पर थे, जबकि ट्रम्प दूसरे और जर्मन चांसलर आंगेला मर्केल तीसरे नंबर पर थीं।

इस साल लिस्ट में ट्रम्प तीसरे नंबर पर हैं। जर्मन चांसलर आंगेला मर्केल चौथे, ऐमजॉन के मालिक जेफ बेजोस पांचवें और पोप फ्रांसिस छठे नंबर पर हैं। लिस्ट में अरबपति बिल गेट्स सातवें और सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान आठवें नंबर पर हैं। लिस्ट में आखिरी स्थान गूगल के को-फाउंडर लैरी पेज को दिया गया है।

कहा अंतरराष्ट्रीय प्रयास में मोदी एक प्रमुख व्यक्ति के रूप में उभरे

इस बार सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस का नाम भी काफी चौंकाने वाला है। क्योंकि उन्हें इस साल पहली बार इस लिस्ट में शामिल किया गया है, और सीधे आठवें नंबर पर जगह दी गई है। सूची में पोप फ्रांसिस (6), बिल गेट्स (7), फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मक्रों (12), अलीबाबा के प्रमुख जैक मा (21) भी शामिल हैं। मोदी के बाद फेसबुक के सीईओ मार्क जकरबर्ग (13 वें ), ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरीजा मे (14), चीन के प्रधानमंत्री ली क्विंग (15), ऐपल के सीईओ टिम कुक (24) को रखा गया है।

रिलांयस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी (32 रैंक) इस सूची में मोदी के अलावा स्थान पाने वाले एकमात्र भारतीय हैं। वहीं, माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ भारतीय मूल के सत्य नडेला को 40 वें पायदान पर रखा गया है। लिस्ट जारी करते हुए फोब्र्स ने कहा कि धरती पर लगभग 7.5 अरब लोग हैं, लेकिन इन 75 पुरुषों एवं महिलाओं ने दुनिया को बदलने का काम किया है। फोब्र्स दुनिया के सबसे शक्तिशाली लोगों की वार्षिक रैंकिंग के लिए हर 10 करोड़ लोगों में से एक शख्स की पहचान करता है, जिनका कार्य सर्वाधिक महत्वपूर्ण हो।

मोदी के बारे में क्या कहा?

फोब्र्स ने कहा कि मोदी दुनिया के दूसरे सबसे अधिक आबादी वाले देश (भारत) में बेहद लोकप्रिय बने हुए हैं। इसमें मनी लांड्रिंग और भ्रष्टाचार से लडऩे के लिए मोदी सरकार के नवंबर 2016 के नोटबंदी के फैसले का हवाला दिया गया है। हाल में मोदी ने अपने विदेशी दौरों में ट्रंप और चिनफिंग के साथ मुलाकात की और ग्लोबल नेता के रूप में पहचान बढ़ाई है। वह जलवायु परिवर्तन से निपटने के अंतरराष्ट्रीय प्रयास में एक प्रमुख व्यक्ति के रूप में उभरे हैं।

अंबानी पर क्या कहा?

अंबानी पर फोब्र्स ने कहा कि अरबपति उद्योगपति ने 2016 में भारत के अति-प्रतिस्पर्धी वाले बाजार में 4 जी सेवा जियो शुरू करके कीमत की जंग छेड़ दी।

निरीक्षण करते रहे मंत्री, प्रसूता की मौत

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams