rohingya myanmar

rohingya myanmar: एक महीने के एकपक्षीय संघर्ष विराम की घोषणा

यंगून
rohingya myanmar: म्यांमार में रोहिंग्या चरमपंथियों ने रविवार को एक महीने के एकपक्षीय संघर्षविराम की घोषणा की है। अराकन रोहिंग्या सैल्वेशन आर्मी (एआरएसए) ने कहा, अराकन रोहिंग्या सैल्वेशन आर्मी आक्रामक सैन्य अभियानों पर अस्थायी विराम की घोषणा करती है।’ उसने बताया कि ऐसा इसलिए किया गया है ताकि प्रभावित क्षेत्र में मानवीय मदद पहुंचाई जा सके।

एआरएसए ने मानवीय मदद मुहैया कराने वालों से अपील करते हुए कहा

‘सभी मददगार 9 अक्तूबर तक चलने वाले संघर्ष विराम के दौरान पीड़ितों की मदद करें। भले ही वे किसी भी जाति या धार्मिक पृष्ठभूमि से संबंधित हों।’ बताया जा रहा है कि दो सप्ताह तक चली हिंसा के चलते हिंसाग्रस्त इलाकों में रोहिंग्याओं को मिलने वाली मानवीय मदद उन तक नहीं पहुंच पा रही थी। इसके अलावा बताया जा रहा है कि हिंसाग्रस्त रखाइन प्रांत से विस्थापित बहुत से लोगों को तत्काल मदद की आवश्यकता है।

25 अगस्त को एआरएसए के सैकड़ों चरमपंथियों ने रखाइन प्रांत की करीब 30 पुलिस चौकियों और राज्य कार्यालयों में समन्वित हमले किए थे।

इसके बाद सुरक्षा बलों की जवाबी कार्रवाई के चलते रोहिंग्या मुसलमानों ने बांग्लादेश की तरफ पलायन करना शुरू कर दिया था। बांग्लादेश में रह रहे रोहिंग्या शरणार्थियों ने म्यांमार के सुरक्षा बलों और बहुसंख्यक बौद्धों पर सैंकड़ों रोहिंग्या गांवों में आग लगाने के आरोप लगाए हैं।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams